google-site-verification: google42e6ddb4e80570f4.html नरेंद्र मोदी की बचपन से प्रधानमंत्री बनने तक की कहानी एक बार जरूर पढ़े ~ successnews.in

नरेंद्र मोदी की बचपन से प्रधानमंत्री बनने तक की कहानी एक बार जरूर पढ़े

नमस्कार दोस्तों , आज में ऐसे सख्स की कहानी बताने जा रहा हु जिसे आज दुनिया सलाम करती है में आज बात करने जा रहा हु नरेंद्र मोदी के बारे में वो कैसे चाय बेचने से लेकर आज भारत के प्रधानमंत्री बने तो चलिए सुरु करते है दोस्तों नरेंद्र मोदी का पूरा नाम नरेंद्र दामोदर दास  मोदी है वो स्वतंत्र भारत में जन्मे प्रथम प्रधानमंत्री है उनका जन्म 17 सितम्बर 1950 में वडनगर गुजरात में हुआ था उनका जन्म एक छोटे से गरीब परिवार में हुआ था उनके घर की आर्थिक  हालत कुछ अच्छा नहीं था. उनके पिता का नाम स्वर्गीय श्री दामोदर दास मूलचंद मोदी था  तथा उनके माता का नाम हिरा बेन था  उनके पिता चाय बेचा करते थे ,उनकी माता गृहणी थी मोदी जी ने आर्थिक हालातो को देखते हुए वो अपने पिता के कामो में हाथ बटाने लग गए वो भी अपने पिता जी के साथ रेलवे स्टेशन पर चाय बेचने लगे मोदी जी के पचपन काफी संघर्ष पूर्ण रहा लेकिन वो एक के बाद एक हर बाधा को दूर करते चले गए मोदी जी का विवाह सन 1968 में जशोदा बेन के साथ हुआ उस समय नरेंद्र मोदी की उम्र 18 वर्ष थी लेकिन वो शादी ज्यादा दिन नहीं चल सका और 2 साल बाद वो एक दूसरे से अलग हो गए, नरेंद्र मोदी की शिक्षा वडनगर गुजरात से सुरु हुई थी लेकिन परिवार की आर्थिक हालातो को देखते हुए वो अपना पढाई वही पर छोड़ दिए और फिर वो सन्यासी बन गए और भारत का भर्मण करने लगे  उसके 2 से 3 साल बाद जब वापस आये तो उन्होंने अपनी उच्च शिक्षा के लिए दिल्ली यूनिवर्सिटी में दाखिला लिए और फिर गुजरात यूनिवर्सिटी में  उन्होंने स्नातक में राजनितिक शास्त्र  से अपना स्नातक पूरा जब उनका पढाई पूरा हो गया तो वो वो आर RSS राजनीतिक दल में शामिल हो गए और सन 1975  से 1977  में जब इंदिरा गाँधी के प्रधानमंत्री के कार्यकाल में आपातकाल घोसित हुआ था उस समय RSS को बेन कर दिया गया था  उस समय मोदी जी छुपना पड़ा था वो अपना भेस बदल कर रहते थे ताकि उन्हें गिरफ्तार न किया जा सके उसके बाद नरेंद्र मोदी सन  1987  में BJP में शामिल हो गए मोदी BJP के लिए बहुत अच्छा अच्छा काम किये जिससे उनका बहुत तारीफ हुआ नरेंद्र मोदी सन 2001 में प्रथम बार विधान सभा चुनाव लड़े और वो विजय भी हो गए जिसके बाद उन्हें गुजरात का मुखयमंती बना दिया गया उस समय केशुभाई पटेल की तबियत ख़राब हो गई थी जिसके कारन उन्हें मुखयमंती बनाया गया था नरेंद्र मोदी 4 बार गुजरात के मुखयमंती बन चुके है। मोदी जी के 4  बार मुखयमंती बनने के बाद उन्हें BJP का अध्यक्ष बना दिया गया जिसके कारन 2014  में हुए आम चुनाव में उन्हें प्रधानमंती पद के रूप में चुने गए उस समय उनका विरोध भी कुछ BJP के कुछ सदस्यों के द्वारा किया गया था लेकिन वो इन सब बातो पर ध्यान न दिया और वो दिन भी आ आ गया जब वो भारत के प्रधानमंत्री के रूप में चुनाव जीत गए। और वो देश को आगे ले जाने में लगे हुए है वो देश के लिए बहुत ऐसे काम किये है और आगे भी करते रहेंगे आज कुछ   लोग उनका विरोध भी कर रहे है ,लेकिन मोदी जी वो सख्स नहीं है जिसे कोई झुका सके। वो न ही कभी थकते है और न ही कभी रुकते है।                         


                                                                     धन्यबाद

                                                               

                                                         
Previous
Next Post »