google-site-verification: google42e6ddb4e80570f4.html इंट्राडे की सच्चाई अगर आप भी इंट्राडे करते है तो ये पोस्ट आपके लिए है ~ successnews.in

इंट्राडे की सच्चाई अगर आप भी इंट्राडे करते है तो ये पोस्ट आपके लिए है

दोस्तों इससे पहले के पोस्ट में शेयर मार्केट के बारे में कुछ बेसिक जानकारी देने का कोसिस किये थे,अगर आप उस पोस्ट को नहीं पढ़े है तो एक बार जरूर पढ़ ले ताकि अच्छे से समझ में आएगा।
दोस्तों इंट्राडे से जुड़ी एक सचाई आपलोग जान ले इंट्राडे में 95 % लोग लोस्स करते है जो रातो रात अमीर बनना चाहते है वही लोग इंट्राडे करते है और जब पैसा ख़त्म हो जाता है तो मार्केट से बाहर  आ जाते है और लोगो को कहते फिरते है शेयर मार्केट  गैंबलिंग है और कुछ लोग डीमेट अकाउंट खुलवाते है और सोचते है पहले इंट्राडे कर के पैसा बना लेते है उसके बाद इन्वेस्टिंग करेंगे लेकिन होता है कुछ उल्टा उनका सारा पैसा डूब जाता है। 
दोस्तों इंट्राडे लोग क्यों करते है इसका कारन यह है की आप जिस भी कंपनी में डीमैट अकाउंट खुलवाते है वो कम्पनी आपको लिवरेज देती है बहुत से लोग उसको मार्जिंग बोलते है कोई कंपनी 10 गुना देती है कोई कंपनी 20 से 25 गुना तक देती है  चलिए इसको कुछ उदाहरण से समझते है। 

माना  की आपके पास 1000 रुपये है अगर कोई कंपनी आपको 15 गुना लिवरेज दे रही है 
तो 1000  को 15 से  गुना करने पर 15000 होता है तो अब आप 15000 का किसी भी कंपनी का शेयर खरीद सकते है उसके बाद आपको 15000  पे जितना प्रॉफिट या लोस्स होगा वो आपका होगा और कंपनी जो आपको 15 गुना  लवरेज  दिया वो अपना पैसा ले लेगी , अब आप तो बोलेंगे की बहुत अच्छी बात है पहले हम 1000 का शेयर खरीद सकते थे लेकिन लवरेज लेने के बाद 15000 का खरीद सकते है लेकिन दोस्तों ऐसा नहीं है चलिए इसको भी एक उदाहरण की सहायता से समझते है। 

#1  उदाहरण( इसमें लिवरेज नहीं लिया गया है) 

 माना की आप abc कंपनी का शेयर बिना  लिवरेज के खरीदते है तो आपके पास 1000 रूपए है माना abc कंपनी का शेयर का दाम 200 रुपये है तो आप 5 शेयर खरीद सकते है और 2 रूपए का स्टॉप लोस्स रखे हुए है यानि की अगर abc शेयर का प्राइस निचे आ जाता है तो 2 रूपए निचे आएगा और आपका स्टॉप लोस्स हिट हो जायेगा  यानि की आपको एक शेयर पे 2 ही रूपए का नुक्सान होगा चाहे दाम अब कितना भी निचे चल जाये  और आपको 1 शेयर पे 2  रुपये का नुक्सान हुआ और आपके पास 5 शेयर है तो टोटल आपका नुकसान 10 रुपये  का हुआ और अगर आप 3  रुपये का टारगेट रखते है अगर पहले टारगेट हिट हो गया तो आपको 3 रुपये एक शेयर पे फायदा होगा और आपके पास 5 शेयर है तो 15 रुपये का प्रॉफिट अगर आपको लोस्स भी हुआ तो सिर्फ 10 रूपए का हुआ आपके पास अभी भी 990 रूपए है। 


#2  उदाहरण (इसमें लिवरेज लिया गया है )

अब 1000 पे 15 गुना लिवरेज लेने के बाद आपके पास 15000 रुपये है अब आप abc कंपनी के 75 शेयर खरीद सकते है अब आप 2 रूपए का स्टॉप लोस्स रखते है और 3 रुपये का टारगेट अब अगर आपका स्टॉप लोस्स हिट होता है तो एक शेयर पे 2 रुपये और 75 शेयर पे 150 रुपये अब अगर आपका टारगेट हिट होता है तो एक शेयर पे 3 रूपए और 75 शेयर पे 225 रुपये का फायदा हुआ अगर लोस्स होता है तो आपके पास अब 850 रुपये बचे है। 

 तो दोस्तों अब आपलोग समझ गए होंगे की लोग इंट्राडे की और क्यों आकर्षित होते है जल्द से जल्द पैसा बनाना चाहते है लेकिन गलती से भी 4 -5  बार अगर आपका स्टॉप लोस्स हिट हो गया तो आपका अकाउंट साफ हो सकता है दोस्तों इंट्राडे में अगर 1 -2  ट्रेड अच्छा चल जाता है तो लोगो को लगता है की इंट्राडे में जल्दी पैसा बनता है लेकिन ऐसा नहीं है इंट्राडे वही लोग करते है जिनको  मार्केट का पूरा नॉलेज है, जिनको अच्छा एक्सप्रिएंस हो गया है वही लोग इंट्राडे में कन्सिस्टेंटली पैसा बनाते है बाकि के 95 % लोस्स में ही रहते है इसलिए इंट्राडे नहीं करना चाहिए इन्वेस्ट करना चाहिए आज जितने भी बड़े बड़े लोग है वो इन्वेस्टिंग से ही इतना आगे तक आ पाए है 


Previous
Next Post »